श्रेष्ठ उत्तराखण्ड (ShresthUttarakhand) | Hindi News

Follow us

Follow us

Our sites:

|  Follow us on

राइफलमैन आदर्श नेगी के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ी भीड़, नारों से गूंजा गांव

kathua terrorist attack | uttarakhand jawan Martyr | jammu kashmir |

kathua terrorist attack : जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले के मछेडी-किंडली-मल्हार इलाके में आतंकी हमले में शहीद 25 वर्षीय राइफलमैन आदर्श नेगी का पार्थिव शरीर बुधवार दोपहर में उनके गांव थाती डागर पहुंचा। यहां पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन करने के लिए परिजनों और लोगों भीड़ लग गई। आदर्श के पार्थिव शरीर को देखते ही उसकी मां और बहन रोकर बिलखने लगीं। शहीद को देख हर किसी की आंखें नम थी। अंतिम दर्शन करने के बाद थाती डागर से उनके पैतृक घाट मलेथा तक अंतिम यात्रा निकली। इस दौरान जब तक सूरज चांद रहेगा, आदर्श तेरा नाम रहेगा के नारों से पूरी डागर पट्टी गूंज उठी। सभी ने आदर्श  को नम आंखों से विदाई दी।

आदर्श के पैतृक घाट बासापानी मलेथा में सेना के अधिकारियों, डीएम टिहरी मयूर दीक्षित, एसपी टिहरी नवनीत सिंह भुल्लर, देवप्रयाग विधायक विनोद कंडारी, पूर्व विधायक व मंत्री प्रसाद नैथानी, उप जिलाधिकारी सोनिया पंत सहित स्थानीय लोगों ने श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद सैन्य सम्मान के साथ आदर्श को अंतिम विदाई दी गई। जिला सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास अधिकारी कर्नल योगेन्द्र कुमार ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आतंकी हमले में प्रदेश के पांच जवान शहीद और तीन जवान घायल हुए हैं।

यह भी देखें : शहीदों की अंतिम यात्रा में उमड़ी भीड़, अधिकारियों ने दी श्रद्धांजलि

उन्होंने कहा कि दो जवान टिहरी जिले के भी आतंकी हमले में शहीद हुए हैं। कहा कि आदर्श नेगी को अंतिम विदाई देने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी। आतंकियों का सफाया करने के लिए सरकार सख्त से सख्त निर्देश जारी करेगी। एक ही परिवार के दो बेटों की शहादत हुई है। बीते 30 अप्रैल को मेजर प्रणव नेगी की भी शहादत हो गई थी। कहा कि दुख का समय है, लेकिन आदर्श और प्रणव ने मां भारती की सेवा करते हुए अपनी शहादत देकर जिले, प्रदेश और देश का नाम रोशन किया है।

यह भी देखें : भूख हड़ताल पर बैठे हैं केशवगिरी महाराज, धरने पर बैठे लोग कर रहे हैं भजन-कीर्तन

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए रुद्रप्रयाग के कांडा भरदार निवासी सूबेदार आनंद सिंह रावत को आज सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। पैतृक घाट सूर्यप्रयाग में हजारों लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। आज जैसे ही उनका पार्थिव शरीर पैतृक गांव कांडा भरदार पहुंचा तो परिजन बिलख उठे। शहीद आनंद की पत्नी, मां, भाई और बच्चों सहित अन्य परिजनों ने शहीद के अंतिम दर्शन किए। इसके बाद पार्थिव शरीर को सूर्यप्रयाग घाट लाया गया। यहां शहीद आनंद सिंह रावत को सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई।


संबंधित खबरें

वीडियो

Latest Hindi NEWS

Paris Olympics 2024
Paris Olympics में जलवा दिखाएंगे उत्तराखंड के ये 4 खिलाड़ी, इन खेलों में दिखाएंगे दमखम
kanwar yatra 2024 | piran kaliyar sabir pak dargah | piran kaliyar |
कांवड़िए पहुंचे पिरान कलियर साबिर पाक दरगाह, पेश की भाईचारे की मिसाल
neet ug result 2024 | supreme court order | nta released revised score card |
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद NEET-UG रिजल्ट का रिवाइज्ड स्कोर कार्ड जारी
rashtrapati bhavan | durbar hall name changed | ashok hall name changed | priyanka gandhi comments |
राष्ट्रपति भवन में दो हॉलों का नाम बदला, प्रियंका गांधी ने NDA पर बोला हमला
SDRF Saved The Lives Of 14 Kanwariyas In Haridwar
SDRF बनी देवदूत, दो दिनों में गंगा में डूब रहे 14 कांवड़ियों को बचाया
chamoli anusuya devi mandir | anusuya devi mandir story |
अनुसूया मंदिर में निसंतान लोगों की कामना होती है पूर्ण, जानिए पूरी कहानी