श्रेष्ठ उत्तराखण्ड (ShresthUttarakhand) | Hindi News

Follow us

Follow us

Our sites:

|  Follow us on

Haldwani Voilence: मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक के महल से खुलते राज, कई घर उजाड़ने वाला मलिक बेहद अय्याश

Abdul Malik mastermind of haldwani violence| uttrakhand| shreshth bharat

हल्द्वानी को हिंसा की आग में झुलसाने वाला मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक जिसका आलीशान महल अब उगल रहा है नए नए राज। अब्दुल मलिक के महल में पुलिस जैसे जैसे अंदर दाखिल होती गई, महल का रहस्य खुलता चला गया।

कुर्की की कार्रवाई में जुटी नैनीताल पुलिस का दावा है कि हल्द्वानी हिंसा के मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक के महलनुमा घर से बेड से लेकर सोफे तक महंगे महंगे फर्नीचर, पंखों से लेकर खिड़कियों और झूमर तक, ऐशो आराम का ऐसा ऐसा लग्जरी और ब्रांडेड सामान मिला है। जिससे पता चलता है कि मलिक कितना बड़ा अय्याश था।

पुलिस का दावा है कि अब्दुल मलिक की काली कमाई से जुटाया गया इतना खजाना, जिसे समेटने में 6 ट्रक भर गए। अब्दुल मलिक का महलनुमा घर 24 कमरों का है। जिन्हें जब खंगाला गया तब पता चला कि वो यहां अपने परिवार के साथ ऐश और आराम की ज़िंदगी जी रहा था। हल्द्वानी हिंसा में लोगों के आशियाने उजाड़ने वाला खुद एक आलिशान महल में रह रहा था।   

हिंसा के मास्टरमाइंड ने अपनी काली कमाई से ऐसा घर बनाया जिसमें रहने के आम लोग सिर्फ सपने देख सकते हैं। दंगे का दानव अब्दुल मलिक तमाम सुख सुविधाओं वाली इस कोठी में बड़े ही ऐश की ज़िंदगी जी रहा था। 8 फरवरी को हल्द्वानी में हिंसा भड़काने वाला अब्दुल मलिक अब कानून की नज़र से भागा-भागा फिर रहा है। हिंसा के बाद से ही वो अपने बेटे साथ फरार है। जिसकी तलाश पुलिस देश के कोने-कोने में कर रही है। वो चाहे जहां भी छुपकर बैठा हो, जल्द ही खाकी की गिरफ्त में होगा। जैसा कि सूबे के मुखिया ने दंगा पीड़ितों से वादा किया था। हिंसा भड़काने वाले को मिट्टी में मिला देने का, उसी वादो को पूरा करने के लिए प्रशासनिक अमला हिंसा के गुनहकार के इस आलिशान महल में पहुंचा। नापाक कमाई की बुनियाद पर खड़े इस महल को प्रशासन के हथौड़े ने तहस-नहस कर दिया है।  

हिंसा के मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक और उसके बेटे की पुलिस को सरगर्मी से तलाश है। तो हल्द्वानी के के गुनहगार पर प्रशासन का मेगा एक्शन में जारी है। शुक्रवार दोपहर प्रशासन की टीम अब्दुल मलिक की संपत्ति को कुर्क करने के लिए उसके इस आलिशान महल में पहुंची और शनिवार रात कर इस महल को खंडहर बना दिया गया। इस पूरी कार्रवाई के दौरान कई चौंकाने वाले खुलासे भी हुए। आप ये जानकर हैरान रह जाएंगे की शासन की जमानी पर अवैध इमारतें बनाने वाला अब्दुल मलिक इस महल में बड़े ही ऐश की ज़िंदगी जी रहा था। उसके इस घर में वो तमाम सुख सुविधाएं थी जो किसी बड़े बिजनेसमैन के घर में आम तौर पर मिलती हैं।

अब्दुल मलिक के घर से जब्त की गई चींजे

अब हम आपको उस महंगे सामान के बारे में बताते हैं जिसे प्रशासन ने अब्दुल मलिक के घर से जब्त किया है। बनभूलपुरा दंगे के मास्टरमाइंड के घर से करोड़ों रुपये का बेशकीमती सामान मिला है। इस घर से बड़े-बड़े ब्रांड की महंगी घड़ियां मिली हैं। सऊदी अरब का इत्र मिला है, महंगे ब्रांड के 30 से ज्यादा जोड़ी जूते और चप्पल मिले हैं। आलिशान बेड और फर्नीचर यहां मिले हैं, लाखों की कीमत वाले झूमर मिले हैं। यहां से भारी संख्या में विदेशी करेंसी भी मिली है, जिसमें बांग्लादेश, नेपाल और सऊंदी अरब की करेंसी शामिल है। घर की अलमारियों से भारी मात्रा में कैश बरामद हुआ।  इसके अलावा कुछ महंगी गाड़ियां भी मिली हैं जिन्हें प्रशासन ने अपने कब्जे में लिया है। खिड़की दरवाजों से लेकर डोरमैट तक इस घर में सबकुछ लग्जरी था।  

पाप की काली कमाई से आलिशान महल बनाने वाला अब्दुल मलिक अब सड़क पर आ गया है। उसके पास को भी कीमती सामान था वो अब कुर्क कर लिया गया है। अब्दुल मलिक और उसका बेटा बहुत ज्यादा समय तक कानून से नहीं भाग पाएगा। पुलिस उसकी तलाश 4 राज्यों में कर रही है। अबतक 1500 से ज्यादा CCTV खंगाले जा चुके हैं। पुलिस हिंसा की साजिश से जुड़ा एक-एक सुराग जुटा रही है। हिंसा के मास्टरमाइंड का आलिशान आशियाना तो मिट्टी में मिल गया। अब बारी उसे सलाखों के पीछे पहुंचाने की है, ताकि दंगे का दर्द झेलने वाले लोगों के साथ इंसाफ हो सके।


संबंधित खबरें

वीडियो

Latest Hindi NEWS

kanwar yatra name plate controversy | leaders reaction on supreme court decision | cm pushkar singh dhami |
Name Plate Controversy : सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर नेताओं की प्रतिक्रिया
dhami government reservation | reservation for agniveers in uttarakhand | cm pushkar singh dhami |
'अग्निवीरों' के लिए अच्छी खबर, धामी सरकार देगी नौकरियों में आरक्षण
uttarakhand forest smuggler | ransali range | cm pushkar singh dhami |
तस्कर वनकर्मियों के साथ मिलकर काट रहे बेशकीमती खैर के पेड़, गुर्जरों का आरोप
kanwar mela 2024 | haridwar kanwar mela | sawan month 2024 |
Kanwar Mela : मां गंगा की पूजा-अर्चना की, पिछले साल इतने करोड़ आए थे कांवड़ियां
sawan 2024 | lord shiva mahabhishek | kedarnath dham |
सावन मास में केदारनाथ में भगवान शिव का होता है रोज महाभिषेक, जानें महत्व   
Rain alert in Uttarakhand
उत्तराखंड में बारिश का अलर्ट, हरिद्वार में जमकर बरसे बादल