श्रेष्ठ उत्तराखण्ड (ShresthUttarakhand) | Hindi News

Follow us

Follow us

Our sites:

|  Follow us on

प्राचीन भारतीय सभ्यता हमेशा ज्ञान के आसपास केंद्रित रही है: पीएम मोदी


भारतीदासन विश्वविद्यालय के 38वें दीक्षांत समारोह में छात्रों को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि प्राचीन भारतीय सभ्यता हमेशा ज्ञान के आसपास केंद्रित रही है। मंगलवार को भारतीदासन विश्वविद्यालय के 38वें दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि वह ‘खूबसूरत राज्य’ तमिलनाडु का दौरा करके और राज्य के युवाओं से जुड़कर बहुत खुश हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा “भारतीदासन विश्वविद्यालय के 38वें दीक्षांत समारोह में शामिल होना मेरे लिए विशेष है। यह 2024 में मेरी पहली सार्वजनिक बातचीत है। मैं खूबसूरत राज्य तमिलनाडु और आप सभी युवाओं के बीच आकर खुश हूं। मैं पहला हूं प्रधानमंत्री को यहां दीक्षांत समारोह में आने का सौभाग्य मिला है। मैं आज यहां से स्नातक होने वाले छात्रों को बधाई देता हूं और इस अवसर पर उनके माता-पिता की सराहना भी करूंगा।”

नालंदा और तक्षशिला विश्वविद्यालयों जैसे शिक्षा के प्राचीन केंद्रों को सामने लाते हुए पीएम मोदी ने कहा “हमारा देश और सभ्यता हमेशा ज्ञान के आसपास केंद्रित रही है। हमारे कुछ प्राचीन विश्वविद्यालय जैसे कि नालंदा और तक्षशिला अपनी भव्यता और उत्कृष्टता के लिए प्रसिद्ध हैं और माने जाते हैं। आज हमारे प्रसिद्ध प्राचीन ग्रंथों में भी कांचीपुरम जैसे स्थानों का उल्लेख किया गया है जहां महान विश्वविद्यालय और शिक्षा केंद्र हैं। प्राचीन काल में गंगईकोंडा चोलपुरम और मदुरै भी शिक्षा के महान केंद्र थे।”

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में उनके नेतृत्व में केंद्र ने युवाओं की बढ़ती आकांक्षाओं को ध्यान में रखते हुए देश के विकास को गति देने के लिए काम किया है। उन्होंने कहा “आप ऐसे समय में दुनिया में कदम रख रहे हैं जब हमारे विकास इंजन बनने में योगदान देने वाले क्षेत्रों में हर कोई आपको नई आशा के साथ देख रहा है। युवा ऊर्जा का प्रतिनिधित्व करते हैं। वे अपनी गति, कौशल और पैमाने के लिए खड़े हैं। पिछले कुछ वर्षों में हमने आपकी गति और पैमाने से मेल खाने के लिए काम किया है ताकि हम आपको अधिक लाभ पहुंचा सकें।

नए और आकांक्षी भारत की कहानी में योगदान देने के लिए देश की युवा आबादी की सराहना करते हुए पीएम मोदी ने भारतीय वैज्ञानिकों की भी प्रशंसा की और कहा कि उन्होंने गहरे अंतरिक्ष में मिशनों के साथ सफल अन्वेषणों के माध्यम से दुनिया की नजरों में देश की स्थिति और प्रतिष्ठा हासिल की है।

पीएम मोदी ने कहा हमारे नवप्रवर्तकों ने हमारे पास मौजूद पेटेंटों की संख्या 2014 में लगभग 4 हजार से बढ़ाकर लगभग 50 हजार कर दी है। उन्होंने कहा “पिछले 10 वर्षों में देश में हवाई अड्डों की संख्या 74 से दोगुनी होकर लगभग 150 हो गई है। नाडु में एक जीवंत समुद्र तट है। आपको यह जानकर खुशी होगी कि देश के प्रमुख बंदरगाहों की कुल कार्गो प्रबंधन क्षमता 2014 से दोगुनी हो गई है।”

प्रसिद्ध तमिल कवि भारतीदासन जिनके नाम पर विश्वविद्यालय का नाम रखा गया है उनके छंद ‘पुथियाथोर उलगम सेइवोम’ का हवाला देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि वह एक बहादुर नई दुनिया बनाने के लिए खड़े थे जो विश्वविद्यालय का आदर्श वाक्य भी है। उन्होंने कहा “हमारे विद्वान भारत की कहानी को पहले की तरह वैश्विक दर्शकों तक ले जा रहे हैं। हमारे संगीतकार और कलाकार भी देश के लिए ख्याति अर्जित कर रहे हैं।”

पीएम मोदी ने तिरुचिरापल्ली में भारतीदासन विश्वविद्यालय के 38वें दीक्षांत समारोह में स्वर्ण पदक विजेताओं को भी सम्मानित किया। इससे पहले मंगलवार को पीएम मोदी तिरुचिरापल्ली पहुंचे जहां मुख्यमंत्री एमके स्टालिन और राज्यपाल आरएन रवि ने उनका स्वागत किया।

प्रधानमंत्री दक्षिण की दो दिवसीय यात्रा पर हैं जिसके दौरान वह 19,850 करोड़ रुपये से अधिक की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे, राष्ट्र को समर्पित करेंगे और आधारशिला रखेंगे। ये परियोजनाएं विमानन, रेल, सड़क, तेल एवं गैस, जहाजरानी और उच्च शिक्षा क्षेत्रों से संबंधित हैं। 


संबंधित खबरें

वीडियो

Latest Hindi NEWS

dhami government reservation | reservation for agniveers in uttarakhand | cm pushkar singh dhami |
'अग्निवीरों' के लिए अच्छी खबर, धामी सरकार देगी नौकरियों में आरक्षण
uttarakhand forest smuggler | ransali range | cm pushkar singh dhami |
तस्कर वनकर्मियों के साथ मिलकर काट रहे बेशकीमती खैर के पेड़, गुर्जरों का आरोप
kanwar mela 2024 | haridwar kanwar mela | sawan month 2024 |
Kanwar Mela : मां गंगा की पूजा-अर्चना की, पिछले साल इतने करोड़ आए थे कांवड़ियां
sawan 2024 | lord shiva mahabhishek | kedarnath dham |
सावन मास में केदारनाथ में भगवान शिव का होता है रोज महाभिषेक, जानें महत्व   
Rain alert in Uttarakhand
उत्तराखंड में बारिश का अलर्ट, हरिद्वार में जमकर बरसे बादल
supreme court
कांवड़ रूट पर नेम प्लेट के सरकार के फैसले पर SC ने लगाई अंतरिम रोक